श्रीखण्ड महादेव की यात्रा

    Author: NARESH THAKUR Genre: »
    Rating




    तीर्थ यात्राओं में कैलाश मानसरोवर की यात्रा सबसे कठिन मानी जाती है। उसके बाद अमरनाथ यात्रा का नंबर आता है। लेकिन श्रीखण्ड महादेव की यात्रा ऐसी है, जिसे अमरनाथ यात्रा से भी ज्यादा कठिन माना जाता है। लोगों का कहना है कि श्रीखण्ड यात्रा में जितनी कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है, उसके आगे अमरनाथ यात्रा के दौरान होने वाली परेशानी कम जान पड़ती है।

    श्रीखंड महादेव हिमाचल के ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क से सटा है। यह कुल्लू क्षेत्र में पड़ता है, लेकिन शिमला के पास है। वहां के स्थानीय लोगों के अनुसार, इस चोटी पर भगवान शिव का वास है। इसके शिवलिंग की ऊंचाई 72 फीट है जो पहाड़ के 18,000 फीट की ऊंचाई पर चोटी पर स्थित है। यहां तक पहुंचने के लिए सुंदर घाटियों के बीच से एक ट्रैक है।

    श्रीखंड महादेव की चोटी तक जाने के लिए पहले शिमला तक जाना पड़ता है। वहां से 140 मीटर दूर रामपुर से आगे दो ट्रेकिंग रूट्स हैं। सरहान की तरफ से चोटी तक जाने का रास्ता निर्मंड के अपेक्षा ज्यादा टफ है। भारतीय मिथक कथाओं के अनुसार महाभारत काल में पांडवों ने श्रीखंड महादेव की चोटी तक इन्हीं रास्तों से गए थे।
     .
    साभार :Er Sanjeev K. Sharma

    2 Responses so far.

    1. एक बार जाना हुआ है यहाँ पर भी।

    2. बहुत अच्छा

    Leave a Reply

    Total Pageviews

    मेरा ब्लॉग अब सुरक्षित है